Last 10 Years UPSC Previous Question Paper in Hindi 2022

Last 10 Years UPSC Question Papers PDF in Hindi | UPSC Prelims Previous Year Question Paper in Hindi PDF | UPSC  Mains Previous Year Question Paper in Hindi PDF |

UPSC Previous Question Paper: आप लोगों को पता ही होगा की UPSC Exam भारत में सबसे उच्च पद का Exam होता है। इस UPSC Exam को क्रैक करने पर आपको IAS/IPS का पद दिया जाता है। UPSC Exam को क्रैक करने के लिए सही दिशा में Self Study करना बहुत जरूरी है। इस वेबसाइट के माध्यम से आप UPSC Previous Question Paper, Syllabus, Exam Pattern Download कर सकते हैं। जो की UPSC Exam की तैयारी में हमेशा आपका मार्गदर्शन करता रहेगा।

आप इस वेबसाइट से पिछले 10 साल के UPSC के Prelims और Mains दोनों के Previous Question Paper Download कर सकते हैं। Exam की तैयारी के दौरान Previous Question Paper को Sovle करना एक महत्वपूर्ण अभ्यास है। Question Paper को Solve कर आप समय प्रबंधित कर सकते हैं, बदलते प्रश्नपत्रों के रुझान पर नज़र रख सकते हैं, तथा विभिन्न विषयों के वेटेज का पता लगा सकते हैं। इसके अलावे आप UPSC Previous Question Paper को Solve कर समय प्रबंधन, गति और सटीकता में सुधार ला सकते हैं। ये Previous Year Paper आपकी UPSC Exam की तैयारी में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा।

जैसा की हम सभी जानते है की UPSC का Exam तीन चरणों में पूरा किया जाता है Prelims, Mains और Interview. Prelims के Exam में भी दो Paper होते है General Studies Paper-I और General Studies Paper-II (CSAT). यही Mains के Exam में कुल 7 Paper होते है Essay, General Studies-I, General Studies-II, General Studies-III, General Studies-IV, और उसके बाद Optional Subject Paper-I और Optional Subject Paper-II. हमने नीचे Prelims और Mains दोनों के Syllabus के टॉपिक के बारे में जानकारी दी है और इसका PDF File भी Hindi और English में दिया है।

UPSC के Prelims Exam में General Studies से 100 Question 200 Marks के पूछे जाते है और CSAT Paper से 80 Question 200 Marks के पूछे जाते है। Prelims Exam में ⅓ अनुपात का Negative Marking भी होता है। इन दोनों Paper का समय अवधि 2 घंटे का होता है। आपके जानकारी के लिए बता दे की Prelims में प्राप्त अंक अंतिम रैंक सूचि में पहुँचते समय नहीं जोड़ा जाता है। प्रीलिम्स एग्जाम में सभी विषय सभी उम्मीदवार के लिए समान होता है, वैसे उम्मीदवार मुख्य परीक्षा में विषय को चुन सकते हैं।

UPSC के Mains Exam में कुल 9 Paper से 250-250 Marks के प्रश्न पूछे जाते हैं। UPSC Mains के 9 Paper में से दो क्वालिफाइंग पेपर होते है पहला कोई भी भारतीय भाषा का पेपर और दूसरा अंग्रेजी भाषा का Paper. ये दोनों Paper 300 नंबर का होता है। आपके जानकारी के लिए बता दे की अगर कोई उम्मीदवार इन दोनों भाषा के पेपर में पास नहीं होता है तो इसका नंबर नहीं जोड़ा जायेगा।

तो चलिए अब बिना समय गवाए UPSC Previous Question Paper Download करते है और Syllabus, Exam Pattern के बारे में और जानकारी प्राप्त करते हैं।

Last 10 Year UPSC Previous Question Paper in Hindi

UPSC Previous Question Paper
UPSC Prelims GS-1 Previous Paper -1 2022 HindiDownload
UPSC Prelims GS-2 Previous Paper -2 2022 HindiDownload
UPSC Mains Previous Paper 2022 HindiDownload
UPSC Mains GS-1 Previous Paper 2022 HindiDownload
UPSC Mains GS-2 Previous Paper 2022 HindiDownload
UPSC Mains GS-3 Previous Paper 2022 HindiDownload
UPSC Mains GS-4 Previous Paper 2022 HindiDownload
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2021Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2(CSAT) 2021Download
UPSC Mains Previous Question Paper 2021Download
UPSC Mains Previous Question Paper 2021Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2020Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2(CSAT) 2020Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2020Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2020Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2020Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2020Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2019Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2019Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2019Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2019Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2019Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2019Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2018Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2018Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2018Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2018Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2018Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2018Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2017Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2017Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2017Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2017Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2017Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2017Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2016Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2016Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2016Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2016Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2016Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2016Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2015Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2015Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2015Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2015Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2015Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2015Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2014Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2014Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2014Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2014Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2014Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2014Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2013Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-2 2013Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2013Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2013Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2013Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2013Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2012Download
UPSC Prelims Previous Question Paper-1 2012Download
UPSC Mains Previous Question Paper-1 2012Download
UPSC Mains Previous Question Paper-2 2012Download
UPSC Mains Previous Question Paper-3 2012Download
UPSC Mains Previous Question Paper-4 2012Download

UPSC Essay Previous Question Paper

UPSC Essay Previous Question Paper-2020Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2018Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2016Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2015Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2014Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2013Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2012Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2011Download
UPSC Essay Previous Question Paper-2010Download

UPSC Prelims Syllabus 2022 In Hindi & English

General Studies Paper-1

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं।
  • भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन
  • भारतीय और विश्व भूगोल – भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल।
  • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकार मुद्दे, आदि।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास – सतत विकास, गरीबी, समावेश, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल, आदि।
  • पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे – जिनके लिए विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है।
  • सामान्य विज्ञान।

General Studies Paper-2

  • कॉम्प्रिहेंशन
  • संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल
  • तार्किक तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समस्या समाधान
  • सामान्य मानसिक क्षमता
  • बुनियादी संख्यात्मकता (संख्याएं और उनके संबंध, परिमाण के क्रम, आदि) (कक्षा X स्तर), डेटा व्याख्या (चार्ट, ग्राफ़, टेबल, डेटा पर्याप्तता, आदि। – कक्षा X स्तर)

UPSC Prelims Syllabus 2022 In Hindi Download

UPSC Prelims Syllabus 2022 In English Download

UPSC Mains Syllabus 2022 In Hindi & English

Qualifying Papers on Indian Languages and English

  • English: Precis Writing, Usage, and Vocabulary, Short Essays, Comprehension of given passages.
  • Hindi: Comprehension of given passages, Short Essays, Translation from English to the Indian Language and vice-versa, Precis Writing, Usage and Vocabulary
  • Esaay: हमने कुछ साल पहले का Essay का Question Paper दिया। आप ऊपर देख सकते हैं।

General Studies-1

  • भारतीय संस्कृति प्राचीन से आधुनिक काल तक कला रूपों, साहित्य और वास्तुकला के प्रमुख पहलुओं को कवर करेगी।
  • अठारहवीं शताब्दी के मध्य से लेकर वर्तमान तक का आधुनिक भारतीय इतिहास – महत्वपूर्ण घटनाएं, व्यक्तित्व, मुद्दे।
  • स्वतंत्रता संग्राम – इसके विभिन्न चरण और देश के विभिन्न हिस्सों से महत्वपूर्ण योगदानकर्ता / योगदान।
  • स्वतंत्रता के बाद देश के भीतर समेकन और पुनर्गठन।
  • विश्व के इतिहास में 18वीं शताब्दी की घटनाएं शामिल होंगी जैसे औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनर्निमाण, उपनिवेशवाद, उपनिवेशवाद, राजनीतिक दर्शन जैसे साम्यवाद, पूंजीवाद, समाजवाद आदि- उनके रूप और समाज पर प्रभाव।
  • भारतीय समाज की मुख्य विशेषताएं, भारत की विविधता।
  • महिलाओं और महिलाओं के संगठन की भूमिका, जनसंख्या और संबंधित मुद्दे, गरीबी और विकासात्मक मुद्दे, शहरीकरण, उनकी समस्याएं और उनके उपचार।
  • भारतीय समाज पर वैश्वीकरण का प्रभाव।
  • सामाजिक सशक्तिकरण, सांप्रदायिकता, क्षेत्रवाद और धर्मनिरपेक्षता।
  • विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं।
  • दुनिया भर में प्रमुख प्राकृतिक संसाधनों का वितरण (दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप सहित); दुनिया के विभिन्न हिस्सों (भारत सहित) में प्राथमिक, माध्यमिक और तृतीयक क्षेत्र के उद्योगों के स्थान के लिए जिम्मेदार कारक।
  • भूकंप, सुनामी, ज्वालामुखी गतिविधि, चक्रवात जैसी महत्वपूर्ण भूभौतिकीय घटनाएं। आदि, भौगोलिक विशेषताएं और उनके स्थान-महत्वपूर्ण भौगोलिक विशेषताओं (जल-निकायों और बर्फ-टोपी सहित) और वनस्पतियों और जीवों में परिवर्तन और ऐसे परिवर्तनों के प्रभाव।

General Studies-2

  • भारत का संविधान-ऐतिहासिक आधार, विकास, विशेषताएं, संशोधन, महत्वपूर्ण प्रावधान और बुनियादी संरचना।
  • संघ और राज्यों के कार्य और जिम्मेदारियाँ, संघीय ढांचे से संबंधित मुद्दे और चुनौतियाँ, स्थानीय स्तर तक शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण और उसमें चुनौतियाँ।
  • विभिन्न अंगों के बीच शक्तियों का पृथक्करण विवाद निवारण तंत्र और संस्थानों के बीच होता है।
  • अन्य देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना की तुलना।
  • संसद और राज्य विधायिका- संरचना, कामकाज, व्यवसाय का संचालन, शक्तियां और विशेषाधिकार और इनसे उत्पन्न होने वाले मुद्दे।
  • कार्यपालिका और न्यायपालिका की संरचना, संगठन और कामकाज – सरकार के मंत्रालय और विभाग; दबाव समूह और औपचारिक/अनौपचारिक संघ और राजनीति में उनकी भूमिका।
  • जन प्रतिनिधित्व अधिनियम की मुख्य विशेषताएं।
  • विभिन्न संवैधानिक निकायों के विभिन्न संवैधानिक पदों, शक्तियों, कार्यों और जिम्मेदारियों की नियुक्ति।
  • वैधानिक, नियामक और विभिन्न अर्ध-न्यायिक निकाय।
  • विभिन्न क्षेत्रों में विकास के लिए सरकारी नीतियां और हस्तक्षेप और उनके डिजाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे।
  • विकास प्रक्रियाएं और विकास उद्योग – गैर सरकारी संगठनों, स्वयं सहायता समूहों, विभिन्न समूहों और संघों, दाताओं, दान, संस्थागत और अन्य हितधारकों की भूमिका।
  • केंद्र और राज्यों द्वारा आबादी के कमजोर वर्गों के लिए कल्याणकारी योजनाएं और इन योजनाओं का प्रदर्शन; इन कमजोर वर्गों की सुरक्षा और बेहतरी के लिए गठित तंत्र, कानून, संस्थान और निकाय।
  • स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधन से संबंधित सामाजिक क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित मुद्दे।
  • गरीबी और भूख से संबंधित मुद्दे।
  • शासन के महत्वपूर्ण पहलू, पारदर्शिता और जवाबदेही, ई-गवर्नेंस अनुप्रयोग, मॉडल, सफलताएं, सीमाएं और क्षमता; नागरिक चार्टर, पारदर्शिता और जवाबदेही और संस्थागत और अन्य उपाय।
  • लोकतंत्र में सिविल सेवाओं की भूमिका।
  • भारत और उसके पड़ोस – संबंध।
  • द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक समूह और भारत से जुड़े और/या भारत के हितों को प्रभावित करने वाले समझौते।
  • भारत के हितों, भारतीय प्रवासी पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियों और राजनीति का प्रभाव।
  • महत्वपूर्ण अंतर्राष्ट्रीय संस्थान, एजेंसियां ​​और मंच- उनकी संरचना, जनादेश।

General Studies-3

  • भारतीय अर्थव्यवस्था और नियोजन, संसाधन जुटाने, विकास, विकास और रोजगार से संबंधित मुद्दे।
  • समावेशी विकास और इससे उत्पन्न होने वाले मुद्दे।
  • सरकारी बजट।
  • देश के विभिन्न हिस्सों में प्रमुख फसल-फसल पैटर्न, – विभिन्न प्रकार की सिंचाई और सिंचाई प्रणाली कृषि उपज का भंडारण, परिवहन और विपणन और मुद्दे और संबंधित बाधाएं; किसानों की सहायता के लिए ई-प्रौद्योगिकी।
  • प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कृषि सब्सिडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे; सार्वजनिक वितरण प्रणाली- उद्देश्य, कार्यप्रणाली, सीमाएं, सुधार; बफर स्टॉक और खाद्य सुरक्षा के मुद्दे; प्रौद्योगिकी मिशन; पशुपालन का अर्थशास्त्र।
  • भारत में खाद्य प्रसंस्करण और संबंधित उद्योग- कार्यक्षेत्र’ और महत्व, स्थान, अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम आवश्यकताएं, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन।
  • भारत में भूमि सुधार
  • अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण के प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन और औद्योगिक विकास पर उनके प्रभाव।
  • बुनियादी ढांचा: ऊर्जा, बंदरगाह, सड़कें, हवाई अड्डे, रेलवे आदि।
  • निवेश मॉडल।
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी- दैनिक जीवन में विकास और उनके अनुप्रयोग और प्रभाव।
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीयों की उपलब्धियां; प्रौद्योगिकी का स्वदेशीकरण और नई तकनीक विकसित करना।
  • आईटी, अंतरिक्ष, कंप्यूटर, रोबोटिक्स, नैनो-प्रौद्योगिकी, जैव-प्रौद्योगिकी और बौद्धिक संपदा अधिकारों से संबंधित मुद्दों के क्षेत्र में जागरूकता।
  • संरक्षण, पर्यावरण प्रदूषण और गिरावट, पर्यावरणीय प्रभाव मूल्यांकन।
  • आपदा और आपदा प्रबंधन।
  • विकास और उग्रवाद के प्रसार के बीच संबंध।
  • आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौतियां पैदा करने में बाहरी राज्य और गैर-राज्य अभिनेताओं की भूमिका।
  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा के लिए चुनौतियां, आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सोशल नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, साइबर सुरक्षा की मूल बातें; मनी लॉन्ड्रिंग और इसकी रोकथाम।
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां और उनका प्रबंधन – आतंकवाद के साथ संगठित अपराध का संबंध।
  • विभिन्न सुरक्षा बल और एजेंसियां ​​और उनका जनादेश।

General Studies-4

  • नैतिकता और मानव इंटरफेस: मानव क्रियाओं में नैतिकता का सार, निर्धारक और परिणाम; नैतिकता के आयाम; नैतिकता – निजी और सार्वजनिक संबंधों में। मानवीय मूल्य – महान नेताओं, सुधारकों और प्रशासकों के जीवन और शिक्षाओं से सबक; मूल्यों को विकसित करने में पारिवारिक समाज और शैक्षणिक संस्थानों की भूमिका।
  • रवैया: सामग्री, संरचना, कार्य; विचार और व्यवहार के साथ इसका प्रभाव और संबंध; नैतिक और राजनीतिक दृष्टिकोण; सामाजिक प्रभाव और अनुनय।
  • सिविल सेवा के लिए योग्यता और मूलभूत मूल्य, अखंडता, निष्पक्षता और गैर-पक्षपात, निष्पक्षता, सार्वजनिक सेवा के प्रति समर्पण, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति, सहिष्णुता और करुणा।
  • भावनात्मक खुफिया-अवधारणाएं, और प्रशासन और शासन में उनकी उपयोगिता और अनुप्रयोग।
  • भारत और दुनिया के नैतिक विचारकों और दार्शनिकों का योगदान।
  • लोक प्रशासन में लोक/सिविल सेवा मूल्य और नैतिकता: स्थिति और समस्याएं; सरकारी और निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएं और दुविधाएं; नैतिक मार्गदर्शन के स्रोत के रूप में कानून, नियम, विनियम और विवेक; जवाबदेही और नैतिक शासन; शासन में नैतिक और नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण; अंतरराष्ट्रीय संबंधों और वित्त पोषण में नैतिक मुद्दे; निगम से संबंधित शासन प्रणाली।
  • शासन में सत्यनिष्ठा: लोक सेवा की अवधारणा; शासन और ईमानदारी का दार्शनिक आधार; सरकार में सूचना साझा करना और पारदर्शिता, सूचना का अधिकार, आचार संहिता, आचार संहिता, नागरिक चार्टर, कार्य संस्कृति, सेवा वितरण की गुणवत्ता, सार्वजनिक धन का उपयोग, भ्रष्टाचार की चुनौतियां।
  • उपरोक्त मुद्दों पर केस स्टडीज।

UPSC Prelims Exam Pattern 2022

Total Paper2 Compulsory Paper (General Studies-1 & General Studies-2(CSAT)
Type of QuestionsObjective (MCQ)
Total Maximum Marks400 (GS Paper-1 & GS Paper-2(CSAT)
GS Paper-1 in Total Question100
GS Paper-2 (CSAT) in Total Question80
Negative MarkingRatio of ⅓
Time DurationGS Paper-1 2 Hour & GS Paper-2 (CSAT) 2 Hour

UPSC Mains Exam Pattern 2022

All Paper SubjectMarks
Paper-AAny Indian Language Paper300
Paper-BEnglish300
Paper-1Essay250
Paper-IIGeneral Studies-I(भारतीय विरासत और संस्कृति, विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल)250
Paper-III General Studies-II (शासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)250
Paper-IV General Studies-III (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)250
Paper-V General Studies-IV (नैतिकता, अखंडता और योग्यता)250
Paper-VI Optional Subject-1- Paper-1250
Paper-VII Optional Subject-1-Paper-1250
Sub Total 1750
Personality Test275
Grand Total2025

ये भी पढ़े: UPSC EPFO Previous Year Question Paper

Conclusion

इस लेख में हमने UPSC Previous Question Paper, Syllabus और Exam Pattern के बारे में जानकारी दी है। इस लेख को पढ़ने के बाद अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमसे Comment Section में पूछ सकते हैं। कुछ Optional Paper का PDF File भी इस वेबसाइट पर जल्द ही अपलोड किया जाएगा। उम्मीद है की जिस Study Material की तलाश में आप मेरे वेबसाइट पर आए थे वह आपको मिल गया होगा।

1 thought on “Last 10 Years UPSC Previous Question Paper in Hindi 2022”

Leave a Comment