Class 10 Hindi Syllabus 2022-23 (Course A & B) | CBSE Class 10 Hindi Syllabus

CBSE Class 10 Hindi Syllabus 2022-23 | Class 10 Hindi Syllabus NCERT PDF | CBSE Class 10 hindi syllabus 2022-23 PDF | Hindi Syllabus Class 10 Term 1 | CBSE Class 10 Hindi Syllabus Term 2

हाल ही में (CBSE) केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने शैक्षणिक वर्ष 2023 के लिए CBSE Class 10 Hindi Syllabus जारी किया है इसमें Syllabus A और Syllabus B का नवीनतम Syllabus शामिल है। जो छात्र CBSE Hindi Syllabus की तलाश कर रहे है वो इस website से PDF File Download कर हैं।

एग्जाम के कुछ महीने पहले से छात्रों को Syllabus के अनुसार तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। इस लेख में हमने Hindi Syllabus के सभी टॉपिक के बारे में विस्तार से बताया है। Syllabus और Pattern के बारे में जानकारी रख कर छात्र अपना अंक योजना तैयार कर सकते हैं।

CBSE CBSE Class 10 Hindi Syllabus: CBSE के Hindi Syllabus में दो Syllabus है Syllabus A और Syllabus B. Syllabus A और Syllabus B को मिलकर कुल चार इकाइयां है पठन कौशल, लेखन कौशल, व्याकरण, एवं पाठ्यपुस्तक से प्रश्न। Syllabus A साहित्य और हिंदी गद्य और कविता पर आधारित है वही Syllabus B हिन्दी भाषा की समझ पर आधारित है।

पाठ्यक्रम के अध्यन से छात्रों को होने वाले लाभ।

  • विद्यार्थी अगले स्तरों पर अपनी रूचि और आवश्य्कता के अनुरूप हिंदी की पढ़ाई कर सकेंगे तथा हिंदी में बोलने और लिखने में सक्षम हो सकेंगे।
  • अपनी भाषा दक्षता के चलते उच्चतर माध्यमिक स्तर पर विज्ञान, समाज विज्ञान और अन्य के साथ सहज संबदधता (अंतसंबंध) स्थापित कर सकेंगे।
  • दैनिक जीवन व्यवहार के विविध क्षेत्रों में हिंदी के औपचारिक/अनौपचारिक उपयोग कीदक्ष्ता हासिल कर सकेंगे।
  • भाषा प्रयोग के परंपरागत तौर -तरीकों एवं विधाओं की जानकारी एवं उनके समसामयिक संदर्भों की समझ विकसित क्र सकेंगे।
  • हिंदी भाषा में दक्ष्ता का इस्तेमाल वे अन्य भाषा -संरचनाओं की समझ विकसित करने के लिए कर सकेंगे।

शिक्षण उदसिये

  • दैनिक जीवन में हिंदी में समझने-बोलने के साथ-साथ लिखने की क्षमता का विकास करना।
  • हिंदी के किशोर-साहित्य, अखबार व पत्रिकाओं को पढ़कर समझ पाना और उसका आनंद उठाना की क्षमता का विकास करना।
  • औपचारिक विषयों और संधर्भो में बातचीत में भाग ले पाने की क्षमता का विकास करना।
  • हिंदी के ज़रिए अपने अनुभव संसार को लिखकर सहज अभिव्यक्ति कर पाने में सक्षम बनना।
  • संचार के विभिन्न माध्यमों (प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक) में प्रयुक्त हिंदी के विभिन्न रूपों को समझने की योग्यता का विकास करना।
  • कक्षा में बहुभाषिक, बहुसांस्कृतिक संदर्भो के प्रति सवेंदनशील सकरात्मक सोच बनाना।
  • अपनी मातृभाषा और परिवेशगत भाषा को साथ रखकर हिंदी की संरचनाओं की समझ बनाना।
  • समाजिक मुद्दों पर समझ बनाना (जाति, लिंग तथा आर्थिक विषमता)
  • कविता, कहानी तथा घटनाओँ को रोचक ढंग से लिखना।
  • भाषा एवं साहित्य को समझने एवं आत्मसात करने की दक्षता का विकास।

कक्षा 10वीं में मातृभाषा के रूप में हिंदी-शिक्षण के उदेश्ये:

  • कक्षा आठवीं तक अर्जित भाषिक कौशलों ( सुनना, बोलना, पढ़ना और लिखना) का उत्तरोत्तर विकास।
  • सृजनात्मक साहित्य के आलोचनत्मक आस्वाद की क्षमता का विकास।
  • स्वतंत्र और मौखिक रूप में अपने विचारों की अभिव्यक्ति का विकास।
  • ज्ञान के विभिन्न अनुशासनों के विमर्श की भाषा के रूप में हिंदी की विशिष्ट प्रकृति एवं क्षमता का बोध कराना।
  • साहित्य की प्रभावकारी क्षमता का उपयोग करते हुए सभी प्रकार की विविधताओं (राष्ट्रीयता, धर्म, लिंग एवं भाषा) के प्रति सकारात्मक और सवेंदनशील अचार-विचार का विकास।
  • भारतीय भाषाओँ एवं विदेशी भाषाओँ की सांस्कृतिक विविधता से परिचय।
  • व्यावहारिक और दैनिक जीवन में विविध अभिव्यक्तिर्यो की मौखिक व् लिखित क्षमता का विकास।
  • संचार माध्यमों (प्रिंट और इलेक्टॉनिक) में प्रयुक्त हिंदी की प्रकृति से अवगत कराना और नवीन भाषा प्रयोग करने की क्षमता से परिचय।
  • विश्लेषण और तर्क क्षमता का विकास।
  • भावभिव्य्क्ति क्षमताओं का उतरोतर विकास।
  • मतभेद, विरोध और टकराव की परीस्थितयों में भी भाषा को सवेंदनशील और तर्कपूर्ण इस्तेमाल से शांतिपूर्ण संवाद की क्षमता का विकास।
  • भाषा की समावेशी और बहुभाषिक प्रकृति की समझ का विकास करना।

पठन कौशल

  • सरसरी दृष्टि से पढ़कर पाठ का केंद्रीय विचार ग्रहण करना।
  • एकाग्रचित हो एक अभीष्ट गति के साथ मौन पठन करना।
  • पठित सामग्री पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करना।
  • भाषा, विचार एवं शैली की सराहना करना।
  • साहित्य के प्रति आभरुचि का विकास करना।
  • साहित्य की विभिन्न विधाओं की प्रकृति के अनुसार पठन कौशल का विकास।
  • संदर्भ के अनुसार शब्दो के अर्थ-भेदों की पहचान करना।
  • सक्रिय (व्यवहारोपयोगी) शब्द भंडार की विधती करना।
  • पठित सामग्री के विभिन्न अंशों का परस्पर संबंध समझना।
  • पठित अनुच्छेदों के शीर्षक एवं उपशीर्षक देना।
  • कविता के प्रमुख उपादान यथा – तुक, लय, यति, गति, बलाघात आदि से परिचित कराना।

लेखन कौशल

  • लिपि के मान्य रूप का ही व्यवहार करना।
  • विराम-चिह्नों का उपयुक्त प्रयोग करना।
  • प्रभावपूर्ण भाषा तथा लेखन-शैली का स्वाभाविक रूप से प्रयोग करना।
  • उपयुक्त अनुच्छेदों में बाँटकर लिखना।
  • प्राथना पत्र, निमंत्रण पत्र, बधाई पत्र, सवेंदना पत्र, ईमेल, आदेश पत्र, एस.एम.एस आदि लिखना और विविध प्रपत्रों को भरना।
  • विविध श्रोतों से आवश्यक सामग्री एकत्र कर अभीष्ट विषय पर निबंध लिखना।
  • देखी हुई घटनाओं का वर्णन करना और उन पर अपनी प्रतिक्रिया डंडा देना।
  • हिंदी की एक विधा से दूसरी विधा में रोपरांतरण का कौशल।
  • समारोह और गोष्ठियों की सूचना और प्रतिवेदन तैयार करना।
  • सार, सक्षेपीकरण एवं भावार्थ लिखना।
  • गध एवं पद अवतरणों की व्याख्या लिखना।
  • स्वानुभूत विचारों और भावनाओं को स्पष्ट सहज और प्रभावशाली ढंग से अभिव्यक्ति करना।
  • क्रमबद्धता और प्रकरण की एकता बनाए रखना।
  • लिखने में सृजनात्मकता लाना।
  • अनावश्यक काट-छाँट से बचते हुए सुपाठ्य लेखन कार्य करना।
  • दो भिन्न पाठों की पाठ्यवस्तु पर चिंतन करके उनके मध्य की संबद्धता ( अन्तसम्बन्धों) पर अपने विचार अभिव्यक्ति करने में सक्षम होना।
  • रटे-रटाए वाकयों के स्थान पर अभीव्यक्तिपरक/ स्थिति आधारित/ उच्च चिंतन क्षमता वाले प्रश्नों पर सहजता से अपने मौलिक विचार प्रकट करना।

CBSE Class 10 Hindi Syllabus (Course-A) PDF Download

Class 10 Hindi Syllabus

CBSE Class 10 Hindi Syllabus (Course-B) PDF Download

Join Our Telegram Channel

CBSE Class 10 Hindi Syllabus (Course-A)

Class 10 Hindi Syllabus
Class 10 Hindi Syllabus
Class 10 Hindi Syllabus

CBSE Class 10 Hindi Syllabus (Course-B)

Class 10 Hindi Syllabus (Course-B)
Class 10 Hindi Syllabus
Class 10 Hindi Syllabus

ये भी पढ़े: Class 12th Physics Formula PDF

Conclusion

इस वेबसाइट पर दिया हुआ Syllabus CBSE के official वेबसाइट cbseacademic.nic.in का है। इसलिए सभी छात्र बिना किसी जिजक के Syllabus Download कर Exam की तैयारी शुरू कर सकते हैं। इस आर्टिक्ल को पढ़ने के बाद अगर छात्रों के मन में कोई सवाल हो तो वे Comment Section में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment